बाजीराव पेशवा की समाधिस्थल 30 करोड़ की लागत से होगा विकसित, कल होगा शिलान्यास

बाजीराव पेशवा

रावेरखेड़ी बाजीराव पेशवा समाधिस्थल। मध्यप्रदेश में पर्यटन की सीमित संभावनाएँ है। इसके लिए म.प्र. का पर्यटन विभाग लगातार ऐसे स्थलों को विकसित करने की दिशा में लगातार बढ़ रहा है। यहाँ न सिर्फ समतल स्थलों, पहाड़ियों या ऐतिहासिक स्थलों की भरमार है,

बल्कि जल या नर्मदा किनारे भी ऐसे कई स्थल है। इसी स्थल में एक रावेरखेड़ी स्थित बाजीराव पेशवा का समाधि स्थल जो वर्षों से अपरिचित सा था। मगर अब पर्यटन विभाग ने इसको विकसित करने की रूपरेखा तय कर ली है।

देश के मध्यकाल इतिहास के मराठा शासन के सबसे वीर और साहसी अजेय सेनानायक बाजीराव पेशवा की समाधि स्थल को अब अजेय सेनानायक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके विकास के लिए म.प्र. शासन के पर्यटन विभाग द्वारा करीब 30 करोड़ रूपये की लागत से विकसित किया जाएगा।

इसमें 28 फीट की स्टेच्यू, सैनिक स्कूल, नौकाविहार, इंटरवेंशन सेंटर और अन्य सौन्दर्यीकरण के कार्य शामिल है। बुधवार को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान रावेरखेड़ी के प्रस्तावित कार्यक्रम में इसकी घोषणा कर सकते हैं।

संभावित कार्यक्रम को लेकर कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी. और एसपी श्री शैलेन्द्र सिंह चौहान लगातार दो दिन से कार्यक्रम स्थल की तैयारियों को लेकर समीक्षा कर रहे हैं। मंगलवार को कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा ने कलेक्टर भवन के सभाकक्ष में कानून व्यवस्था को लेकर राजस्व अधिकारियों की बैठक ली।

कलेक्टर ने केन्द्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की यात्रा को लेकर राजस्व अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है। केन्द्रीय नागरिक एवं उड्यन मंत्री श्री सिंधिया के निर्धारित कार्यक्रम अनुसार दोपहर 1 बजकर 15 मिनट पर हेलीकाप्टर से रावेरखेड़ी पहुंचेगें।

यहां वे श्रीमंत बाजीराव पेशवा के जन्म जंयती पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके पश्चात केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया दोपहर 4 बजे रावेरखड़ी से निकलने वाली जन अर्शिवाद यात्रा में शामिल होकर रात 10 बजे इंदौर के लिए रवाना होंगे।

यह भी पढ़ें: इंदौर में 270 दर्शक क्षमता वाला लक्ज़री Multiplex 19 अगस्त से होगा शुरू

UIDAI: Aadhaar Card के इस ज़रूरी नियम में हुआ बड़ा बदलाव, जानें नया नियम