Bharat Biotech: बच्चों के लिए जल्द शुरू हो सकता है कोवाक्सिन का ट्रायल

Bharat Biotech

कोरोना के खिलाफ युद्ध लड़ रहा भारत जल्द ही अच्छी खबर पा सकता है। Bharat Biotech के COVAXIN के एक Special Panel ने Tuesday को 2 से 18 वर्ष की आयु के लिए दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षणों की मंजूरी की सिफारिश की।

यह परीक्षण 525 स्थानों पर किया जा सकता है, जिसमें एम्स दिल्ली, एम्स पटना, मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज नागपुर शामिल हैं। Central Drugs Standard Control Organisation (CDSCO) की विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) ने Tuesday को,

Hydrabad में Bharat Biotech के Application पर चर्चा की। समिति ने COVAXIN के 2 से 18 साल के Age Group पर 2nd और 3rd चरण के नैदानिक परीक्षणों को मंजूरी देने की सिफारिश की है। समिति ने,

इस शर्त पर नैदानिक परीक्षणों की सिफारिश की है, कि दूसरे चरण के सुरक्षा डेटा प्रस्तुत करने के साथ, DSMB की सिफारिश को भी चरण 3 परीक्षण से पहले CDSCO को प्रस्तुत करना होगा।

टीकाकरण में Bharat Biotech की COVAXIN का उपयोग किया जा रहा है

प्रस्ताव पर 24 फरवरी को एसईसी की बैठक में चर्चा की गई थी और फर्म को नैदानिक परीक्षण प्रोटोकॉल पेश करने के लिए कहा गया था। Bharat Biotech द्वारा भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के सहयोग से बनाए गए कोवाक्सिन का उपयोग वर्तमान में भारत के चल रहे COVID-19 टीकाकरण अभियान में 18+ पर किया जा रहा है।

प्रत्यक्ष आपूर्ति 18 राज्यों में की जा रही है

COVAXIN बनाने वाले Bharat Biotech का कहना है कि 1 मई से 18 राज्यों में डायरेक्ट COVAXIN की आपूर्ति की जा रही है। इन 18 राज्यों में आंध्र प्रदेश, दिल्ली, बिहार, गुजरात, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, असम, छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर शामिल हैं।

झारखंड, कर्नाटक, ओडिशा, तमिलनाडु, त्रिपुरा, तेलंगाना, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश। भारत बायोटेक ने एक ट्वीट में कहा, “हम 1 मई से 18 राज्यों को वैक्सीन की आपूर्ति कर रहे हैं और हम इस आपूर्ति को जारी रखेंगे।”

यह भी पढ़ें: Fixed Deposit: ये 5 बैंक 1-2 साल की FD पर दे रहे 7% रिटर्न, जल्द उठाएं लाभ

Driving License असली हैं या नकली आसानी से इस तरह करें Online चेक