धन का इस्तेमाल हमेशा ऐसे करना चाहिए, संकट के समय भी रहेंगे खुशी, इधर-उधर नहीं फैलाने होंगे हाथ

Chanakya Niti

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य के निति शास्त्र में कई ऐसी बातें बताई गई हैं जिनको मानने से मनुष्य को सही दिशा मिल सकती है। आचार्य चाणक्य के निति शास्त्र में हर परिस्थिति के लिए अलग-अलग बाते बताई हैं। ऐसे ही आचार्य चाणक्य ने धन यानी पैसे को लेकर भी नीतियां बताई हैं।

वैसे देखा जाए तो आज की सबसे बड़ी चीज है पैसा। आगरा पैसा नहीं तो कुछ नहीं। पैसे से आप अच्छे बुरे की पहचान कर सकते हैं। आचार्य चाणक्य ने कहा है कि जो व्यक्ति पैसे के मूल्य समझता है वह जीवन में संपन्न और समृद्ध रहता है। पर जो व्यक्ति पैसे की कदर नहीं करता है वे जीवनभर परेशान ही रहते हैं।

Chanakya Niti

Chanakya Niti से जानें कैसे करें पैसों का इस्तेमाल?

उनका कहना है कि पैसे यानी धन उन लोगों के पास ही फलता-फूलता है, जो इसे सुरक्षित रखते हैं। बता दें कि आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों (Chanakya Niti) में पैसे के इस्तेमाल के तरीकों के बारे बताया है, जिनको मानने से संकट के समय में भी आप सुखी रहेंगे और आपको कभी दूसरों के सामने हाथ फ़ैलाने की जरूरत नहीं होगी।

चाणक्य ने कहा कि जो व्यक्ति अपने धन का इस्तेमाल सुरक्षा, दान और निवेश के तौर पर करता है वह संकट में भी खुशी-खुशी जीवन गुजरता है।  वे कहते है कि धन यानी पैसे का इस्तेमाल सही जगह और समय के अनुसार करना चाहिए। कहते हैं कि जो व्यक्ति धन यानी पैसों को बेवजह ही खर्च करता है वह संकट के समय दुख और दरिद्रता का सामना करना पड़ता है।

आचार्य चाणक्य के अनुसार, धन यानी पैसों की बचत करने का सबसे अच्छा तरीका है बेवजह खर्चों पर रोक. कब, कितना पैसा, कहां खर्च करना है इसका हिसाब रखने वाले भले ही दूसरों की नजर में कंजूस माना जाए। पर ऐसे लोग बुरा से बुरा समय आने पर भी अपना जीवन समान्य तरीके से गुजारते हैं।

आचार्य चाणक्य के अनुसार, अपनी कमाई का कुछ हिस्सा पुण्य कार्यों में लगाना चाहिए और ऐसा करने से धन में दोगुनी वृद्धि होती है। कहते हैं कि दान से बढ़ कोई धन नहीं। अगर किसी व्यक्ति की सामर्थ्य अनुसार मदद करते हैं तो मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

कहा जाता है कि हर जगह संतुलन होना बेहद ही जरूरी है। इससे हर काम सही तरीके से होता है। इसी तरह धन खर्च का संतुलन मनुष्य को विपत्तिकाल में भी दुख नहीं पहुंचाता। अपने धन को बड़ी सावधानी से खर्च करना चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि आप अपनी जरूरतों को सिमित रखें। जितना जरूरी है उतना उपभोग करें। जो ऐसा नहीं करते हैं उन्हें जीवन में हर मोड पर परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जरूर पढ़ें- इस इनबिल्ट हीटर वाली Washing Machine ने बाजार में मचाया तहलका, आंखमूंद कर खरीद रहे लोग, देखें खासियत

डायबिटीज मरीजों को सर्दियों में लगती है ज्यादा भूख, ये 4 फूड्स खाएं, शुगर केवल भी रहेगा कंट्रोल

खड़े-खड़े किसी की भी हाइट चुटकियों में स्मार्टफोन से करें पता, कमाल का है ये फीचर, ऐसे करें इस्तेमाल

स्मार्टफोन में पीछे क्यों दिए जाने लगे 3 कैमरे, आखिर क्या है इनकी जरूरत? यहां समझिए पूरी बात