इंदौर शहर में कोरोना वायरस फिर से पसारने लगा अपने पैर, CHMO छुपा रहे सही आंकड़े

CHMO

राजेंद्र सचदेव इंदौर. इंदौर में पिछले सप्ताह से कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं कल भी इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह के प्रतिदिन 4500 सैंपल लेने के आदेश को धत्ता बताते हुए इंदौर के CHMO डॉक्टर प्रवीण जाड़ियां ने 1999 सैंपल लिए जिसमें से 178 कोरोना वायरस मरीज मिले।

यदि 4500 सैंपल लिए जाते तो निश्चित रूप से संख्या में परिवर्तन आता इसमें प्राइवेट लैब में जो सैंपल लिए जा रहे हैं, उसमें जो पॉजिटिव मरीज आ रहे हैं। उसकी संख्या इंदौर का स्वास्थ्य विभाग अपने स्वास्थ्य बुलेटिन में शामिल नहीं करता है।

न उसकी कोई जानकारी इंदौर के नागरिकों को प्राप्त हो पाती है वास्तविकता में CHMO डॉ. प्रवीण जाड़ियां कोरोना के मामले में अब लापरवाह हो गए हैं।इंदौर के नागरिकों के स्वास्थ्य के बारे में कोई चिंता नहीं करते।

कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहे हैं और यह आंकड़े छुपाने के चक्कर में लगे रहते हैं इंदौर में कल दो मोतेभी हो गई हैं। मरने वालों की संख्या 716 हो गई है इंदौर में संक्रमण की दर 9% हो गई है एक्टिव मरीजों की संख्या भी 1943 तक पहुंच गई है।

इंदौर के नागरिकों को कोरोना वायरस से बचने के लिए सतर्क रहना पड़ेगा क्योंकि इंदौर के जन-प्रतिनिधि कुंभकरण की नींद सो रहे हैं। दीपावली मिलन के समारोह में मशगूल है अब इंदौर के नागरिकों को कोरोना से बचने के लिए स्वयं ही अपने उपाय ढूंढने पड़ेंगे।

इंदौर के जन-प्रतिनिधि सांसद से लेकर विधायक इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं इंदौर में एक सक्षम CHMO की नियुक्ति तक नहीं करवा पा रहे अपने स्वागत सत्कार में मशगूल हैं।

भारत का नक्शा बनाकर 1100 दीपक सजाएं, गांव के अधिकतर परिवार के युवा हैं सैनिक