बेटियों को 18 वर्ष के बाद मिलेंगे 1 लाख रुपये, लाड़ली लक्ष्मी योजना का लाभ ऐसे उठाएं

लाड़ली लक्ष्मी योजना लड़कियों

मध्य प्रदेश लाड़ली लक्ष्मी योजना: लड़कियों के सुरक्षित भविष्य के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा लाड़ली लक्ष्मी योजना (लाडली लक्ष्मी योजना 2020) शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, बेटी के जन्म के बाद परिवार को वित्तीय मदद मिलती है (सरकार योजना लड़कियों के लिए)।

इस योजना का उद्देश्य लड़कियों के भविष्य को मजबूत करना है, उनकी स्कूलिंग शिक्षा में आर्थिक मदद करना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य महिलाओं और लड़कियों की स्थिति को मजबूत बनाने और मध्य प्रदेश में लड़कियों के अनुपात में सुधार के लिए आर्थिक प्रोत्साहन दिया जाता है।

लाड़ली लक्ष्मी योजना

आपको बता दें कि 1 अप्रैल 2007 को मध्य प्रदेश सरकार ने लाडली लक्ष्मी योजना शुरू की थी। इस योजना से कई परिवार लाभान्वित हुए। मध्य प्रदेश के बाद, 6 अन्य राज्यों ने भी इस योजना को लागू किया है।

लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत, सरकार बेटी के जन्म से लेकर उसके अगले पांच साल तक हर साल 6,000 रुपये जमा करती है। इस योजना के तहत, सरकार हर साल 6000 रुपये का राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC) खरीदती है,

और समय-समय पर इसका नवीनीकरण करती है। सरकार बालिक के नाम पर कुल 30 हजार रुपये का भुगतान करती है।

लाड़ली लक्ष्मी योजना के लाभ

इस योजना के अनुसार, राज्य सरकार मध्यप्रदेश की लड़कियों को कक्षा 6वीं में प्रवेश करने के दैरान 2,000 रुपये और कक्षा 9वीं में प्रवेश करने के दौरान 4,000 रुपये का भुगतान किया जाता है।

वहीं, 11वीं कक्षा में प्रवेश के साथ 7500 रुपये दिए जाते हैं और जब लड़की की आयु 18 वर्ष हो जाती है, तो उसे 1 लाख से अधिक का भुगतान किया जाता है। हालांकि, यह पैसा उनकी शादी पर ही जारी किया जाएगा।

लाड़ली लक्ष्मी योजना की शर्तें

केवल मध्य प्रदेश के मूल निवासियों को इस योजना का लाभ मिलेगा। वहीं, अगर मां या पिता ने दूसरी लड़की के जन्म पर परिवार नियोजन अपनाया है, तो वे इस योजना के लिए पात्र होंगे।

मध्य में ही विद्यालय छोड़ने वाली लड़कियों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोग ही लाडली लक्ष्मी योजना में नामांकन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंमशहूर अभिनेता की 28 वर्षीय पत्नी को आपत्तिजनक वीडियो कॉल करता था यह लड़का