Online Study की इच्छा पूरी, 12 आम बेचने पर मिले 1.2 लाख, मोबाइल और 2 साल का नेट

Online Study

झारखंड. जमशेदपुर की तुलसी कुमारी भी उनमें से एक हैं। तुलसी का गरीबी से संघर्ष और पढ़ाई का जुनून देखकर हर कोई हैरान है। दरअसल, 7 साल की तुलसी को एक एंड्रायड मोबाइल चाहिए था जिसके जरिए वह Online Study ज्वाइन कर सके।

इसके लिए उन्होंने लॉकडाउन के दौरान आम बेचना शुरू किया। इस मोबाइल के लिए उसे 10 हजार रुपये से ज्यादा की जरूरत थी जो जल्दी मिलना मुश्किल था। लेकिन अब उनकी Online Study की ये इच्छा पूरी हो गई है.

दरअसल वैल्युएबल एडुटेनर प्राइवेट लिमिटेड की मैनेजिंग डायरेक्टर अमेया हेटे और उनके पिता को Study का उनका जुनून पसंद आया और उन्होंने 1.2 लाख में 10 आम खरीदे।

अमेया हेटे ने 10 हजार में खरीदा एक आम

तुलसी और उनके पिता नरेंद्र हेटे के लिए फरिश्ता बनकर आईं अमेया हेटे ने मासूमियत से 10 हजार रुपए का एक आम खरीद लिया। उसने लड़की से 12 आम खरीदे। बदले में उन्हें 1.20 लाख रुपये दिए गए। इतना ही नहीं तुलसी को एक मोबाइल फोन,

और दो साल का इंटरनेट भी मुफ्त मिला। ताकि वे अपनी Online Study कर सकें और उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। नरेंद्र हेटे और उनके बेटे अमेया हेटे तुलसी की मदद करके बहुत खुश हैं।

तुलसी के पिता ने कहा कि नरेंद्र और अमय भगवान के रूप में आए

उनके पिता बहुत खुश हैं कि अमेया हेटे और नरेंद्र हेटे बेटी तुलसी की मदद करते हैं। तुलसी के पिता श्रीमल कुमार का कहना है कि नरेंद्र इस बुरे समय में भगवान के रूप में उनके पास आए और अब उनकी बेटी आगे की पढ़ाई कर सकेगी।

इस मौके पर तुलसी की मां पद्मिनी देवी ने नरेंद्र हेट का शुक्रिया अदा किया. वहीं तुलसी इससे बेहद खुश हैं. उनका कहना है कि अब उन्हें आम नहीं बेचने पड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उनके आम इतने मीठे होंगे कि उन्हें नहीं पता था कि उनकी जिंदगी बदल जाएगी।

यह भी पढ़ें: कोरोना की तीसरी लहर और डेल्टा प्लस Variant को लेकर वैज्ञानिकों ने कहीं ये बड़ी बात