Dhar Mp: भोजपर्व में जुटेंगे मालवा प्रांत के साहित्यकार एवं विचारक 

भोजपर्व
भोजपर्व
०-ज्ञानेंद्र त्रिपाठी धार
Dhar Mp: भोजपर्व में मालवा प्रांत के 1000 से अधिक साहित्यकार एवं विचारक अगले तीन दिन तक उपस्थित रहेंगे। प्रतिदिन 8 सत्र होंगे तथा देशभर के प्रतिष्ठित साहित्यकार एवं विषय विशेषज्ञ इन सत्रों में अपना मार्गदर्शन करेंगे। भोजपर्व में मालवा प्रांत के मीडिया एवं साहित्य से जुड़े विद्यार्थी भी भाग ले रहे हैं।
राजा भोज के जीवन काल में उनके सामाजिक एवं वास्तुशिल्प पर योगदान पर केंद्रित प्रदर्शनी उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, मध्य क्षेत्र के माननीय प्रांत संघ चालक श्री अशोक सोहनी ,मालवा प्रांत प्रांत कार्यवाह श्री विनीत नवाथे एवं नर्मदा साहित्य मंथन के संयोजक डॉ मुकेश  मोढ़ की गरिमामय उपस्थिति में स्थानीय राजा भोज शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय धार के परिसर में होगा।
अश्विनी शोध संस्थान महीदपुर के संस्थापक अध्यक्ष श्री रामचंद्र ठाकुर द्वारा संयोजित इस प्रदर्शनी में राजा भोज के वास्तु, नगर नियोजन, मंदिर नियोजन, नाट्य , विमानन शास्त्र से लेकर उनके काल के शस्त्र -औज़ार भी प्रदर्शित किए गए हैं। उनके काल में प्रचलित स्वर्ण मुद्राएँ भी इस प्रदर्शनी में दर्शकों को देखने को मिलेगी।

प्रदर्शनी के उद्घाटन के साथ ही नर्मदा साहित्य मंथन – भोजपर्व प्रारम्भ हो गया हैं। 

तीन दिवसीय भोजपर्व का विधिवत उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राष्ट्रीय प्रचार प्रमुख श्री सुनील जी अम्बेकर एवं मध्यप्रदेश शासन की संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर की उपस्थिति में प्रातः 9:30 बजे होगा। द्वितीय सत्र में उत्तराखण्ड के महामहिम राज्यपाल लेफ़्टिनेंट जनरल ( रिटा.) श्री गुरमीत सिंह आंतरिक सुरक्षा , चुनौतियों एवं समाधान विषय पर अपने विचार रखेंगे।