यदि Petrol Pump कर्मचारी पाइप की नोब को बार-बार दबा रहा हैं, तो अब हो जाए सावधान! हो सकती है ठगी? आज जान ले इसके पीछे की सच्चाई

Petrol Pump

Petrol PumpPetrol Pump Thagi: भारत में पेट्रोल और डीजल की बढ़ी हुई कीमतें लगभग सभी को परेशान कर रही हैं। हालांकि पिछले कई दिनों से पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है, बावजूद इसके कई शहरों में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा के भाव पर बिक रहा है।

अब जरा सोचिए कि इतना महंगा पेट्रोल-डीजल खरीदने के बाद भी आपको कैसा लगेगा अगर Petrol Pump वाले आपको धोखा देकर ठग लें। इसका मतलब है कि आपने अपने वाहन में जितना पेट्रोल भरने के लिए कहा है, उतनी ही राशि आपसे ली जाए लेकिन पेट्रोल कम भरा जाए।

अगर ऐसा हुआ तो किसी को बुरा लगेगा और गुस्सा भी आ सकता है। इसलिए पेट्रोल पंप पर पेट्रोल-डीजल बेहद सावधानी से भराना चाहिए।

Petrol Pump पर क्या ऐसे होती हैं ठगी

कई बार ऐसी चीजें हो जाती हैं, कि हमें लगता है कि धोखा देने के लिए की जा रही हैं लेकिन ऐसा होता नहीं है। दरअसल, आपने कई बार देखा होगा कि पेट्रोल पंप कर्मचारी आपके वाहन में पेट्रोल भरते समय नोजल नॉब को बार-बार दबाता रहता है, तो कभी वाहन में नोजल छोड़ता है और फिर जब पेट्रोल भरता है तो उसे वाहन से निकाल दिया जाता है।

जब वह गाड़ी में नोज़ल छोड़ता है तो हमें लगता है कि यह सही है लेकिन अगर वह गाड़ी में डालने के बाद भी नोज़ल को पकड़े रहता है और बार-बार उसकी घुंडी दबाता रहता है, तो हमें लगता है कि वह धोखा दे रहा है। शायद आप भी ऐसा सोचते हों।

इससे नहीं होती ठगी

दरअसल, पेट्रोल पंप कर्मी जब वाहन में पेट्रोल भरते समय नोजल नॉब को बार-बार दबाता है तो वह पेट्रोल पंप मशीन से आने वाले पेट्रोल के दबाव को नियंत्रित कर रहा होता है। अगर पेट्रोल मशीन पहले से खराब नहीं हुई है तो नोजल नॉब को बार-बार दबाने से पेट्रोल कम या ज्यादा नहीं भरेगा, यह उतना ही भरेगा जितना पहले मशीन में डाला गया है।

जरूर देखें: LIC की सुपरहिट स्कीम, बस एक बार जमा करें पैसा, पूरी जिंदगी मिलेगी पेंशन, देखें डिटेल

Cyrus Mistry Last Rites Rituals: इस विवादित पद्धति से होगा साइरस मिस्‍त्री का अंतिम संस्‍कार! सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुका है मामला

बाइक या कार चलाने वाले जरूर साथ लेकर चलें ये 5 चीजें, नहीं तो लग सकता है 10 हजार का चूना

गेंदबाज अर्शदीप सिंह के विकिपीडिया पेज पर किसने जोड़ा ‘खालिस्तानी’ कनेक्शन? सरकार सख्त, भेजा नोटिस