यदि कोई Shopkeeper Expire हो चुका सामान दे दे, तो यहां करें फ़ोन, तुरंत होगी कार्यवाही

Shopkeeper

अक्सर जब आप दुकान से सामान लेते हैं तो उस पर एक्सपायरी डेट चेक करना भूल जाते हैं। सामान बेचने के बीच कभी-कभी Shopkeeper आपको पुराना सामान भी दे देते हैं। किसी भी वस्तु पर लिखी एक्सपायरी डेट बताती है,

कि उस वस्तु को कितने दिनों तक इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन जब भी आप उस सामान को वापस करने जाते हैं तो Shopkeeper उसे लेने से मना कर देता है। जानिए आप ऐसे Shopkeepers के खिलाफ क्या कर सकते हैं, जिन्होंने आपको एक्सपायरी डेट का सामान बेचा है।

Shopkeeper की ग्राहक को शिकायत करने का हैं अधिकार

जब भी आप या हम किसी दुकान से एक्सपायरी डेट का कोई सामान खरीद कर वापस करने जाते हैं तो Shopkeeper झगड़ने लगता है। एक ग्राहक के रूप में आपको यह जानने की जरूरत है कि अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है,

तो आप शिकायत करने के हकदार हैं। आप किसी भी दुकानदार, सेवा प्रदाता या डीलर के खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते हैं, जिसने आपको एक्सपायरी डेट के साथ सामान बेचा है।

क्यों जरूरी है Expiry डेट चेक करना

किसी भी उत्पाद के पैकेट के पीछे की तरफ या किसी बोतल के ऊपर की तरफ एक्सपायरी डेट लिखी होती है। अगर आप एक्सपायरी डेट के बाद सामान का इस्तेमाल करते हैं, तो यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

ऐसे में किसी भी प्रोडक्ट की एक्सपायरी डेट चेक करना बेहद जरूरी है। ऐसे में अब कंज्यूमर फोरम में शिकायत करना काफी आसान हो गया है। आप ऐसे मामलों में सिर्फ एक मैसेज भेजकर भी शिकायत कर सकते हैं।

शिकायत कैसे दर्ज करें

Customer इन 3 Technique से Complain दर्ज करा सकते हैं

ग्राहक 1800114000 या 14404 पर कॉल करके Shopkeeper, सेवा प्रदाता या डीलर से शिकायत कर सकते हैं। आप 8130009809 पर मैसेज कर भी शिकायत कर सकते हैं। मैसेज करने के बाद आपके पास एक कॉल आएगी,

और आप कॉल पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।इसके अलावा आप Consumerhelpline.gov.in पर जाकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं। आपकी शिकायत दर्ज की जाएगी और आपको एक शिकायत संख्या दी जाएगी ताकि आप इसका इस्तेमाल कर सकें।

इन बातों का ध्यान रखना होगा

आप उस Shopkeeper, डीलर या किसी सेवा प्रदाता के खिलाफ शिकायत कर सकते हैं जिसने आपको धोखा दिया है। शिकायत दर्ज करते समय आपको हमेशा पूरा विवरण देना होगा। उस दुकानदार का पूरा नाम, सही पता जिसके खिलाफ शिकायत दर्ज की जा रही है और आपकी शिकायत के समर्थन में सभी आवश्यक दस्तावेज।

भुगतान किया जाने वाला शुल्क

अपनी शिकायत दर्ज करने के बाद आपको कुछ शुल्क देना होगा। आपको 100 रुपये से लेकर 4,000 रुपये तक की फीस देनी पड़ सकती है। यह शुल्क आपकी शिकायत के प्रकार पर निर्भर करता है। अगर आपकी शिकायत 1 लाख रुपये तक के केस की है तो 100 रुपये फीस देनी होगी.

1 से 5 लाख रुपये के बीच के मामले के लिए 200 रुपये, 10 लाख रुपये तक के मामले के लिए 400 रुपये, 10 से 20 लाख रुपये के मामले में 500 रुपये, 20 से 50 लाख रुपये के मामले में 2,000 रुपये। और 1 करोड़ रुपये तक मामले के लिए 4,000 रुपये का शुल्क देना होगा।

यह भी पढ़े: Restaurant में 2800 का खाना खाया और 12 लाख की दे दी टिप, वेटर ने बताई पूरी कहानी