यदि आपका Aadhaar Card हो गया हैं 10 वर्ष पुराना तो भारत सरकार दे रही ये जबरदस्त मौका, जानें आखिर क्या हैं वो मौका?

Aadhaar Card Update

Aadhaar Card Updateकेंद्र सरकार देश के नागरिकों को अपना Aadhaar Card Update करने का एक अहम मौका दे रही है। आधार कार्ड को अपडेट करते समय पिछले एक दशक के दौरान जो बदलाव आए हैं, उन्हें आधार में अपडेट किया जा सकता है। 31 मार्च, 21 तारीख तक, भारत के कुल 128.99 करोड़ निवासियों को आधार नंबर जारी किया गया है।

इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय के अनुसार, ऐसे व्यक्ति जिन्होंने 10 साल पहले अपना आधार बनवाया था और उसके बाद इन वर्षों में कभी अपडेट नहीं किया है, ऐसे आधार कार्ड धारकों से अनुरोध है कि वे अपने आधार कार्ड को अपडेट करवाएं।

इस तरह Aadhaar Card Update करें

पिछले दस वर्षों के दौरान, आधार नंबर व्यक्ति की पहचान के प्रमाण के रूप में उभरा है। विभिन्न सरकारी योजनाओं और सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आधार कार्ड का उपयोग किया जा रहा है।

मंत्रालय का मानना ​​है कि इन योजनाओं और सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आम जनता को आधार डेटा को नवीनतम व्यक्तिगत विवरणों से अपडेट रखना होगा ताकि आधार प्रमाणीकरण या सत्यापन में कोई असुविधा न हो।

UIDAI ने इस संबंध में आधार कार्ड धारकों को निर्धारित शुल्क के साथ Aadhaar Card Update की सुविधा प्रदान करता है। इसके माध्यम से आधार कार्ड धारक आधार डेटा में व्यक्तिगत पहचान प्रमाण और पते के प्रमाण दस्तावेजों को अपडेट कर सकता है।

इस सुविधा को My Aadhaar पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन अपडेट किया जा सकता है या निवासी इसका लाभ उठाने के लिए किसी भी नजदीकी आधार केंद्र पर भी जा सकते हैं।

गौरतलब है कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत भारत सरकार द्वारा स्थापित एक वैधानिक प्राधिकरण है।

UIDAI की स्थापना भारत के सभी निवासियों को आधार नामक विशिष्ट पहचान (UID) नंबर जारी करने के उद्देश्य से की गई थी, ताकि UID द्वारा दोहरी और नकली पहचान को आसानी से और प्रभावी ढंग से सत्यापित और प्रमाणित किया जा सके।

पहला आधार 2010 में किया गया था जारी

एक वैधानिक प्राधिकरण के रूप में अपनी स्थापना से पहले, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण 28 जनवरी, 2009 की राजपत्र अधिसूचना के तहत योजना आयोग (वर्तमान में नीति आयोग) के एक संलग्न कार्यालय के रूप में कार्य कर रहा था।

पहला UID नंबर नंदुरबार, महाराष्ट्र के निवासी को 29 सितंबर, 2010 को जारी किया गया था। 12 सितंबर, 2015 को, सरकार ने कार्य आवंटन नियमों में संशोधन के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के साथ भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण का विलय कर दिया।

जरूर देखें: मार्केट में भौकाल माचाने आ गई 521 किमी रेंज वाली Electric Car, इतनी कम कीमत में करें बुक

PM Kisan: किसानों के लिए बुरी खबर! सरकार ने समाप्त कर दी यह बड़ी सुविधा, इसका पडेगा बुरा असर

इस लग्जरी कंपनी ने पेश की अपनी पावरफुल इंजन वाली सबसे सस्ती कार, देखें कीमत और फीचर्स

Business Idea: इस दीवाली शुरू करें हैं यह बिजनेस, कमाई होगी बंपर, जानें पूरा तरीका