इंदौर: क्राइम ब्रांच और स्वास्थ्य विभाग ने, खजराना में पकड़ा नकली देसी घी बनाने का कारखाना

घी इंदौर खजराना

राजेंद्र सचदेव इंदौर. इंदौर स्थित खजराना क्षेत्र में स्वास्थ विभाग और क्राइम ब्रांच की team ने शुक्रवार को एक साथ कार्यवाही करते हुए नकली घी का बहुत बड़ा कारखाना पकड़ा है, इस कारखाने में बड़ी-बड़ी कंपनियों के टैग लगाकर उन्हें असली घी के नाम पर बेचा जाता था.

डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा के अनुसार मौके से पकड़े गए आरोपी अशरफ शमशेर अली निवासी हबीब कॉलोनी कुआं मस्जिद के पास खजराना स्थित मकान पर छापा मारकर नकली जी का कारखाना पकड़ा गया है.

आरोपी 2 साल से उक्त मकान में नकली घी बना रहा था और उसकी खपत होटलों और ढाबा दुकानों ग्रामीण क्षेत्र की दुकानों पर कर रहा था इंदौर में छावनी सिंधी कॉलोनी के दुकानदारों को भी आरोपी ने जी बेचा है.

आरोपी से जो जानकारी मिली है उसने बताया है इस शहर के छावनी और सिंधी कॉलोनी के कुछ थोक और रिटेल दुकानदार उससे नकली घी खरीदते थे ₹300 में लेकर 500 से ₹600 में उसे असली घी के रूप में बेचते थे पुलिस यह भी पता कर रही है.

यह दुकानदार कौन है और आरोपी से पूछताछ की जा रही है उसकी निशानदेही पर उन व्यापारियों को पुलिस गिरफ्तार करके आरोपी भी बनाएगी और यह भी पता कर रही है कि उसके गिरोह में और कितने लोग हैं।

एसपी क्राइम राजेश दंडोतिया जी के अनुसार आरोपी ने स्थानीय स्तर पर नामी कंपनियों के लिए पर बनाकर कार्टन पैकेट बनाकर बड़े पैमाने रे पर छपवा लिए थे टेकिंग भी इस तरह की की जाती थी की असली और नकली में कोई अंतर कर पाना मुश्किल होता था।

बार-कोड भी इस्तेमाल किया जा रहा था समाज के दुश्मनों द्वारा आरोपी से नकली घी करीब कर जनता की सेहत से मारी खिलवाड़ किया जा रहा था कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर एडी भटनागर के अनुसार नकली घी सेहत के लिए नुकसानदायक है.

इस में मिलाए जाने वाले केमिकल सीधे दिल पर असर डालते हैं और दिल पर असर पड़ता है धनिया जमा हो जाती है कई बार रक्त का प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है हार्टअटैक भी आ जाता है सूत्रों के अनुसार नकली घी तैयार करते कई बार हड्डियों का चूरा भी मिलाया जाता है.

यह भी पढ़े: मुख्यमंत्री को ठंडा खाना खिलाने वाले खाद्य अधिकारी के तबादले की जोरों से चर्चा