इंदौर: चमेली देवी पब्लिक स्कूल, CBSE मे रजिस्ट्रेशन के नाम पर कर रहा छात्रो से अवैध वसूली

प्रदीप मिश्रा इंदौर. निर्धारित समय में CBSE बोर्ड मे रजिस्ट्रेशन फ़ार्म नही भरा तो 300 रुपए के फ़ार्म में 2000 रुपये जुर्माने के रूप में अतिरिक्त देना होंगे!? और स्कूल की फीस पूरी भरी होनी चाहिए?जबकि CBSE बोर्ड के नियमों के तहत जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं हैं.

और न ही स्कूल की फीस से उसका कोई लेना देना है? अग्रवाल ग्रुप के तथाकथित 4थी क्लास पास चेयरमेंन पुरुषोत्तम अग्रवाल द्वारा संचालित चमेली देवी पब्लिक स्कूल इंदौर ने 20 सितंबर को एक सर्कुलर 9 वी कक्षा के छात्रो को जारी किया.

इस सर्कुलर के माध्यम से छात्रो को CBSE मे रजिस्ट्रेशन के लिए 300 रुपए की फीस के साथ 10 अक्टूबर तक जमा करने करने के लिए निर्देशित किया और साथ में पिछले 6 महीने की स्कूल की पूरी फीस जो दो किस्तों मे जमा करना होती है.

उनकी दोनों किश्तों की जमा रसीद भी संलग्न करना होगी तभी छात्र का CBSE बोर्ड मे रजिस्ट्रेशन फ़ार्म मंजूर किया जाएगा!? और यदि 30 अक्टूबर तक फ़ार्म नहीं जमा किया तो 300 रुपए के फ़ार्म के साथ 2000 रुपए पेनल्टी के रूप में मतलब कुल 2300 रुपए जमा करना होंगे. और साथ में पिछले 6 महीनो की पूरी फीस?

CBSE बोर्ड के नियमों को ताक पर रखना और सरकार के आदेशो की अवहेलना, न्यायालय के आदेशो को न मानना, अभिभावकों से अभद्रता, टीचरो के अपमान, आदि की ढेरों शिकायतों के बाद भी और पूर्व में प्रदेश के मुख्यमंत्री का काफिला रोककर स्कूल की शिकायत करने के बावज़ूद कोई वैधानिक कारवाई न करना इसको मनमानी करने की छूट देने जैसा है?

इस 4थी पास कोयले और ट्रांसपोर्ट के व्यापारी को शिक्षा जैसे नैतिक कार्य को पूर्ण रूप से व्‍यवसायिक और मुनाफाखोरी करने का धंधा चलाने के लिए स्कूल डालने की परमिशन और मान्यता स्कूली शिक्षा विभाग और CBSE बोर्ड रद्द क्यो नही करता है?

यह भी पढ़ें: उपचुनाव तय करेंगे MP में सरकार का भविष्य, 64 लाख मतदाता के हाथ में, 7 करोड़ का भविष्य