मीडिया को मुख्यमंत्री कार्यक्रम से दूर रखना कोई साजिश तो नहीं?, चुनिंदा पत्रकार हुए शामिल

मुख्यमंत्री पत्रकार पत्रकारों

  • पहली बार सीएम के कार्यक्रम में चुनिंदा पत्रकारों को लेकर गया जनसंपर्क विभाग

मनीष गुप्ता खंडवा. जनसंपर्क विभाग कहने को तो मध्यप्रदेश शासन का वह विभाग है, जहां पर शासन की योजनाओं की जानकारी आम नागरिक तक पहुंचे. और प्रदेश के मुख्यमंत्री और मंत्री का जिले में जिस प्रकार दौरा होता है उसमें पत्रकारों को ले जाकर कवरेज करवाना एक परंपरा थी.

खंडवा के पत्रकारों ने भी मुख्यमंत्री के सभी कार्यक्रमों का महिमा मंडित लेकिन खंडवा के इतिहास में पहली बार जनसंपर्क विभाग खंडवा द्वारा नया कारनामा स्थापित किया गया है यहां के जनसंपर्क अधिकारी बृजेश शर्मा द्वारा कुछ चुनिंदा पत्रकारों को कुछ चुनिंदा पत्रकारों को सिलेक्ट करके मुख्यमंत्री के कार्यक्रम पुनासा ले जाया गया।

गिने चुने पत्रकारों के लिए एक लंबी बस की व्यवस्था और फोर व्हीलर वाहनों की व्यवस्था भी की गई थी जहां सुबह 11:00 बजे कुछ पत्रकारों को पुनासा ले जाया गया यह पहली बार ऐसा हुआ है जब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में कई न्यूज़ चैनल और पेपर के पत्रकारों को इस आयोजन से दूर रखा गया.

आखिर ऐसा क्या छुपाना चाहते हैं जनसंपर्क अधिकारी जो पत्रकारों को मध्यप्रदेश शासन के महत्वपूर्ण कार्यक्रम की में ले जाया नहीं गया काफी प्रश्नचिन्ह खड़े हो रहे हैं वही वीडियोग्राफी फोटोग्राफी पत्रकारों का लंच भोजन व्यवस्था पेय जल पर काफी लंबा बिल खर्चा होता है.

इस वर्ष शायद मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में पत्रकारों की संख्या कम थी शायद यह बिल मैं धनराशि की संख्या कम लगे जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में पत्रकारों को इसलिए भी नहीं ले जाया गया की करोना महामारी के चलते जिले में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा था.

लेकिन मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में तो लाखों की संख्या में लोग पहुंचे थे और खंडवा शहर में पत्रकारों की संख्या की बात करें तो सौ का आंकड़ा भी नहीं होगा कई न्यूज़पेपर उन्हें मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की न्यूज़ नहीं लगा पाए उसका मुख्य कारण था कि कई पत्रकार उस कार्यक्रम में पहुंचे ही नहीं थे.

यदि पत्रकारों को जनसंपर्क विभाग ले जाता तो बहुत अच्छा कवरेज मिलता मुख्यमंत्री के कार्यक्रम एक सकारात्मक न्यूज़ हमेशा समाचार पत्रों में देखने को मिलती लेकिन जनसंपर्क विभाग खंडवा की कार्यशैली ने सभी को अचंभित कर दिया.

वही खंडवा के पत्रकार साथियों ने मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में पत्रकारों की अपेक्षा होने पर इसकी जानकारी मध्य प्रदेश शासन के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक पहुंचाने की बात भी कही है ताकि आने वाले समय में खंडवा जनसंपर्क की कार्यशैली सही हो सके.

क्या कहना है…..

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की सूचना कुछ ही पत्रकारों को देना बहुत गलत है कभी पत्रकार बराबर है कोई छोटा नहीं कोई बड़ा नहीं पहली बार जनसंपर्क विभाग ने ऐसा किया है जो कि बहुत गलत है ना तो पत्रकारों के कार्ड बने,

और मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की सूचना भी कुछ ही पत्रकारों को दी गई जोकि बहुत गलत है इसकी संगठन स्तर पर और मुख्यमंत्री से भी चर्चा करूंगा जो भी दोषी हो उस पर कार्रवाई होंगी.
सुनील जैन प्रवक्ता भारतीय जनता पार्टी खंडवा

यह भी पढ़ें: PM मोदी की 2015 से अब तक, 58 देशो की विदेश यात्रा में हुए सारे खर्च का ब्योरा जाने