विशेषज्ञों से जाने मास्क उपयोग का सही तरीका, मास्क लगाते ही खाँसी आने का कारण भी जाने

मास्क

चीन से फैले कोरोना वायरस महामारी दुनिया के लिए एक सर दर्द बनी हुई है, रोजाना हजारों लोगों की इस वायरस से मौत हो रही है. आप जानते है कि इस महामारी से बचने के लिए जितना जरूरी बार-बार हाथों को सेनेटाइज करना जरूरी है,

उसी तरह मुँह को कवर करना और सोशल डिस्टेनसिंग भी जरूरी है जिससे संक्रमण से बचा जा सके. आजकल देखने मे आता है कि मुह पर मास्क लगाने की वजह से लोगो की स्वसन क्षमता में कमी आयी है.

देश और दुनिया मे कोरोना के केस लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। पूरी दुनिया में अब तक कोरोना से लगभग 2 crore 80 lakh से भी अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं जबकि 9 lakh 50 हजार से ज्यादा लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है।

USA में कोरोना से संक्रमित मरीजो के मामले में पहले नंबर पर है, और हिंदुस्तान कोरोना के मामलों में दूसरे नंबर पर है। USA में अभी तक 67 lakh से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जबकि हिंदुस्तान में इनकी संख्या 43 lakh के पार हो चुकी है.

जाने मेडिकल मास्क आख़िर किसके लिए उपयोगी है

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज की प्रोफेसर डॉ.  अग्रवाल ने बताया कि किसी भी तरीके के मास्क लगाने को लेकर बहुत से अनुसन्धान हो चुके हैं। अगर  आप रुई का मास्क लगाते हैं, तो आपको कोई दिक्कत नहीं होगी, और अगर चिकित्सक मास्क का प्रयोग कर रहे हैं,

तो ये आम आदमी के लिए नहीं बल्कि डॉक्टरों के लिए है। आम लोगों को ज्यादा देर तक सर्जिकल/N95 मास्क लगाने पर सांस लेने में तक़लीफ़ और  मास्क पहने होने के दौरान खांसी आने की परेशानी हो सकती है।

डॉ. अपर्णा की मुँह को कवर करने की सलाह 

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के डॉ. एम. के. के अनुसार, कभी भी आप घर से बाहर कहीं भी निकलें तो मास्क का प्रयोग जरूर करें।

देखें Video: कंगना का मुंबई स्थित ऑफिस BMC ने तोड़ा, जवाब में किए ये 5 धमाकेदार ट्वीट