4 लाख साल पहले कैसे दिखते थे इंसान के पूर्वज निएंडरथल, पहली तस्वीर आई सामने, ऐसे तैयार की गई फोटो

Knowledge News

Knowledge News

Knowledge News: हाल ही में वैज्ञानिकों के एक तस्वीर तैयार की, जिसमें दिखाया गया है कि 4 लाख साल पहले इंसानों के पूर्वज कैसे रहते थे और कैसे दिखते होंगे। इस तस्वीर में निएंडरथल मानव को दिखाया गया है, जिनका रूप अभी के मानव से मिलता-जुलता लग रहा है।

हाल ही में निएंडरथल मानवों पर रिसर्च हुई, जिसमें बताया गया कि निएंडरथल मानवों के दौर में इंसान छोटे-छोटे समूह में रहते थे। एक समूह करीब 20 सदस्य होते थे। बता दें कि सबसे पहले इनकी हड्डियां जर्मनी की निएंडर घाटी में पाई गई। इसी वजह से इन्हें निएंडरथल कहा गया। आइए इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

Knowledge News: यह रिसर्च क्यों की गई

निएंडरथल मानव से जुड़ी जानकारियां वैज्ञानिकों के पास ज्यादा नहीं थीं। इसी वजह से कई दशकों से इनके बारे में ज्यादा जानने के लिए रिसर्च की जा रही है। नेचल जर्नल में एक रिसर्च पब्लिश हुई, जिसके अनुसार, 1980 के दशक में रूस की ओक्लाडनिकोव गुफा की खुदाई के दौरान और 2007 में चागिरस्काया गुफा में इनसे जुड़े 80 से अधिक अवशेष पाए गए थे।

अवशेषों की मदद से इनके बारे में और ज्यादा जानकारी हासिल करने में काफी आसानी हुई। स्वीडन के वैज्ञानिक स्वांते पाबो ने इस पर रिसर्च की, जिसके लिए उन्हें नोबेल प्राइज दिया गया।

कैसे मिली इनके बारे में जानकारियां

गुफाओं से मिली से हड्डियों से DNA निकला गया। इसके बाद पाबो ने 2010 में निएंडरथल की पहली जीनोम सिक्वेंसिंग की थी। इसी के आधार पर 13 निएंडरथल मानवों की तस्वीर बनाई गई है। रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार, इन मानवों की उत्पत्ति 4 लाख साल पहले हुई और 40 हजार साल पहले विलुप्त हो गए थे। ये यूरोप और पूर्व दक्षिणी साइबेरिया में निवास करते थे।

बता दें कि पाबो की देख-रेख में मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर इवोल्यूशनरी एंथ्रोपोलॉजी के शोधकर्ताओं ने रिसर्च की। रिसर्च में मिले 13 तरह के जीनोम की मदद से पूरे समुदाय की तस्वीर बनाई गई। इसके साथ कई और बातें सामने आईं।

रिपोर्ट में बताया गया कि, 54 हजार साल पहले निएंडरथल समुदाय का समूह रूस के दक्षिणी साइबेरिया में निवास करता था। यह सबसे ज्यादा ठंडा इलाका है। रिसर्च में यह भी सामने आया कि वे शिविर में रहते थे और समूह बनाकर शिकार करते थे।

जीनोम के अनुसार बनाई गई तस्वीर से पता चलता है कि उनका परिवार वहां रहता था और सगे सगे-सम्बंधी भी साथ में रहते थे। वैज्ञानिकों के अनुसार, रूस की दो गुफाओं ओक्लाडनिकोव और चागिरस्काया में 80 से अधिक अवशेष पाए गए हैं।

जरूर पढ़ें- Mahindra लॉन्च कर रहा है अपनी क्यूट मिनी Electric Car, सिंगल चार्ज पर देगी 100 किमी की हाई रेंज, जानिए कीमत

इस बाइक के सामने Pulsar, Apache की नहीं चल रही, CB Shine की चमक भी पड़ी फीकी; आंख बंद करके खरीद रहे लोग

अगर हमेशा रहती है पैसों से तंगी, घर पर करें ये आसान उपाय, हो जाएंगी सारी तकलीफें छूमंतर