घर में सोना व ज्वैलरी रखने से पहले जान लें ये नियम, वरना बाद में होगा पछतावा…पढ़े पूरी डिटेल

Income Tax Rules

Income Tax Rules

Income Tax Rules: सोना काफी कीमती धातु है,जिसका दाम समय के मुताबिक कम और ज्यादा होता रहता है। भारत में त्योहार के समय इसको खरीदना काफी शुभ माना जाता है। बहुत से लोग अपने घरों में सोना खरीदना और उसको रखना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं कि आप घर में कितना सोना रख सकते हैं।

घर में सोने को रखना औऱ उसकी सुरक्षा के बारे में जानना काफी जरुरी हो जाता है। कि घर में सोना रखऩे के नियम क्या हैं। आप घर में कितना सोना या फिर उससे बने गहने रख सकते हैं।

इसके लिए सरकार ने कुछ नियम सुझाएं हैं। जिनका पालन करना काफी आवश्यक हो जाता है। लेकिन अधिकतर लोगों नही पता होता है कि घर में सोना रखने की कोई भी निर्धारित राशि भी है।

क्या कहता है नियम: Income Tax Rules

CBDT के मुताबिक , अगर किसी व्यक्ति ने छूट वाली इनकम से सोने की खरीदारी की है। या फिर घर में पैसे बचाकर सोना खरीदा है तो उस पर टैक्स का भुगतान नही करना पड़ेगा। यह एक तरह से विरासत में मिला है। जिसका सोर्स पता हो, उस पर किसी भी प्रकार का टैक्स नही देना होता है।

नियम में यह भी बताया गया है कि तलाशी के समय अधिकारी घर से मिले सोने के जेवर या फिर गहने को जब्त नही कर सकता है। बस उसकी मात्रा निर्घारित सीमा से कम हो।

घर में कितना सोना रख सकते हैं?

इनकम टैक्स से जुड़े मामले के जानकर और स्वतंत्र सेवाएं देने वाले अनुपम अग्रवाल कहते हैं कि जब सोने को किसी सोर्सेबल आय से खरीदा जाता है तो उसको रखने की कोई भी सीमा नही है।

वहीं यदि नियम की बात करें तो एक विवाहित महिला 500 ग्राम तक सोना अपने पास रख सकती है। और एक अविवाहित स्री 250 ग्राम तक सोना रख सकती है। पुरुषों के लिए 100 ग्राम सोने की सीमा तय़ की गई है।

सोना सेल करने के नियम:

अगर आप सोने को तीन साल से ज्यादा समय तक रखने के बाद सेल करते हैं को सेलिंग होने वाली आय लॉंग टर्म कैपिटल गेन टैक्स के अंडर में आती है।

वही दूसरी तरफ अगर आप सोने को खरीदने के 3 साल के अंदर सेल करते हैं तो लाभ व्यक्ति की आय में जोड़ा जाता है। और लॉंग टैक्स स्लैब के मुताबिक लगाया जाता है।

सॉवरेन सोना बॉन्ड के सेल के नियम:

इस बॉन्ड को सेल के मामले में लाभ आपकी आय में जोड़ा जाएगा और लिए गए टैक्स स्लैब के मुताबिक कर लगाया जाता है।

यदि SGB को तीन साल के बाद बेचा जाता है। तो लाभ पर इंडेक्सेशन के साथ 20 प्रतिशत और बिनाा इंडेक्सेशन के 10 फीसदी की दर से कर लगाया जाएगा।

जरुर पढ़े:- पुरुषों की इन अदाओं पर पहली बार में मर मिटती हैं महिलाएं, स्त्रियों की सबसे बड़ी हैं कमजोरी!

कंपनी कर रही है Instagram अकाउंट बंद, मेसेज और पोस्ट अब कुछ भी नहीं कर सकेंगे, जानें कारण

PM Awas Yojana की नई लिस्ट हुई जारी, तुरंत ऐसे चेक करें अपना नाम, ये है पूरा प्रोसेस

अरे गजब! आ गया Wifi के लिए Inverter, अब बिजली हो या न हो हरदम चलेगा इंटरनेट