ताज़महल का नाम बदलकर रखा जाएगा ये नाम! आगरा प्रशासन इस अहम प्रस्ताव पर कर रहा हैं चर्चा

Tajmahal

Follow Us On Google News

Tajmahal का नाम बदलने की मांग एक बार फिर तेज हो गई है। अब नगर निगम भी सदन में गूंजेगा. भाजपा पार्षद शोभाराम राठौर ने बुधवार को होने वाली नगर निगम की बैठक में प्रस्ताव बनाकर पेश करने का फैसला किया है. इस पर अधिकारी खामोश हैं,

लेकिन मेयर का कहना है कि प्रस्ताव आ गया है, इसे सदन में पढ़ा जाएगा और सभी पहलुओं पर विचार कर आगे की कार्रवाई की जाएगी. पार्षद शोभाराम राठौर का तर्क है कि नगर निगम ने साढ़े चार साल में सड़कों और चौराहों का नाम बदला है. इसलिए अब वह नगर निगम में Tajmahal का नाम तेजो महालय करने का प्रस्ताव पेश करेंगे।

Tajmahal पर पार्षद की दलील

ताजमहल नाम स्मारक को एक विदेशी यात्री द्वारा दिया गया है जो मूल नाम तेजो महालय का अपभ्रंश है। महल शब्द आज तक दुनिया के किसी भी कब्रिस्तान से नहीं जुड़ा है। ऐतिहासिक और लिखित प्रमाण हैं कि उक्त परिसर राजा जय सिंह की संपत्ति थी। जिस पर शाहजहाँ ने कब्जा कर लिया था।

● शाहजहाँ की प्रेम कहानी काल्पनिक और रचित प्रतीत होती है, क्योंकि शाहजहाँ की कई पत्नियाँ थीं।

● तथाकथित रानी मुमताज का असली नाम अर्जुमंद बानो था।

● कथित मुमताज यानी अर्जुमंद बानो की बुरहानपुर में उक्त स्मारक के निर्माण से करीब 22 साल पहले मौत हो गई थी।

● आज भी बुरहानपुर में अर्जुमंद बाना का मकबरा मौजूद है।

● इतने सालों तक कैसे सुरक्षित थी मुमताज की लाश? इसका कोई स्पष्ट उल्लेख नहीं है, इस सन्दर्भ में स्वयं बादशाह के नाम शाहजहाँ के नाम पर एक विरोधाभासी बयान दर्ज है।

● इतिहासकार टैवर्नियर, पीटर मुंडी, औरंगजेब के पत्रों और इतिहासकार पीएन ओक के शोध के बाद यह साबित होता है कि ‘ताजमहल’ एक मंदिर की इमारत है। जिसे अनाधिकृत रूप से कब्जा कर लिया गया है और जीर्णोद्धार कर इसे मुगल स्वरूप देने का प्रयास किया गया है।

● शाहजहाँ की प्रेम-कथा को मजबूत करने के लिए उससे जुड़ी अन्य कहानियाँ भी समाज में रची गईं। जैसे शाहजहाँ ने ताजमहल बनाने वाले कारीगरों का हाथ काट दिया, वैसे ही शाहजहाँ भी एक और काला ताजमहल आदि बनाना चाहता था। सफेद झूठ साबित हो चुका है।

क्या कहते हैं मेयर और पार्षद

भाजपा पार्षद शोभाराम राठौर का कहना है कि ताजमहल नगर निगम की सीमा में है। वहां की सफाई नगर निगम करती है। ताजमहल में सभी हिंदू धर्मों से संबंधित प्रतीक हैं। यह राजा जय सिंह की हवेली थी। शहर में सड़कों के नाम बदल गए हैं। तो ताजमहल का नाम क्यों नहीं बदला जा सकता। इसलिए यह प्रस्ताव नगर निगम भवन में पेश किया गया है।

मेयर नवीन जैन ने कहा कि पार्षद शोभाराम राठौर ने ताजमहल का नाम बदलकर तेजो महालय करने का प्रस्ताव दिया है. प्रस्ताव को सदन में पढ़ा भी जाएगा और उस पर चर्चा होगी। यह नगर निगम के अधिकार क्षेत्र का मामला नहीं है, लेकिन कानूनी पहलुओं पर विचार करने के बाद प्रस्ताव सरकार को भी भेजा जा सकता है.

जरूर पढ़े: अब बिना रिजर्वेशन के भी ट्रेन में मिल जाएगी कन्फर्म सीट, भारतीय रेलवे ने शुरू की ये शानदार व्यवस्था

सिर्फ 225 रुपये में आने वाली जबरजस्त Solar light, मिलेगी हरदम फ्री लाइट और बिजली का बिल होगा कम

पिछला लेखअब बिना रिजर्वेशन के भी ट्रेन में मिल जाएगी कन्फर्म सीट, भारतीय रेलवे ने शुरू की ये शानदार व्यवस्था
अगला लेखEarn Money Idea: रेलवे के साथ जुड़कर करें ये काम, हर महीने होगी 70 से 80 हजार की इनकम
ध्रुववाणीन्यूज़डॉटकॉम एक हिंदी न्यूज वेबसाइट हैं जिसकी शुरुआत वर्ष 2020 में की गई थी। यह एमपी के बड़वाह से प्रकाशित लोकप्रिय दैनिक समाचार पत्र ध्रुव वाणी की आधिकारिक वेबसाइट हैं, हमारी टीम प्रति-दिन देश और दुनिया की ताज़ा खबरें हिंदी भाषा में उपलब्ध कराती है। समाचारों के अलावा हम नौकरी, व्यापार, स्वास्थ्य, तकनीकी आदि से जुड़ी जानकारियां भी वेबसाइट पर अपडेट करते हैं, जिससे पाठको को उनके रुचि के अनुसार सभी प्रकार की जानकारी मिलती रहे। हमारा उद्देश्य हैं जनता को उनके अधिकारों और हितों के प्रति जागरूक करना, साथ ही दुनिया भर के हिंदी भाषी लोगों तक हिंदी मे सही जानकारी उपलब्ध कराना भी है। हम पिछले 17 वर्षो से हमारे दैनिक समाचार पत्र ध्रुव वाणी और पिछले 2 से अधिक वर्षो से ध्रुववाणीन्यूज़ के माध्यम से अपने उद्देश्य की पूर्ति के लिए निरंतर प्रयासरत हैं।