बच्ची का स्तन दबाना यौन शोषण नही, जब तक Skin To Skin Contact न हुआ हो: bombay high court

bombay high court

मुंबई. bombay high court की Nagpur खण्ड पीठ ने एक मामले की सुनवाई के बाद अपने एक फैसले में कहा कि केवल छूना ही यौन शोषण नहीं है। अदालत ने कहा कि घटना के समय, व्यक्ति ने गलत इरादे से पीड़ित के साथ त्वचा से त्वचा का संपर्क किया था, तभी यौन उत्पीड़न पर विचार किया जाएगा। यदि ऐसा नहीं हुआ है, तो आरोप को गलत माना जाएगा।

Budget 2021: Finance Minister से जनता को चाहिए ये 5 चीजें, मिल गईं तो होगा फायदा

यौन शोषण के बारे में अब bombay high court की नई परिभाषा के बारे में जानें

आउटलुक के अनुसार, अदालत ने कहा कि 12 साल की लड़की के स्तन दबाने को तब तक यौन शोषण नहीं माना जाएगा जब तक कि यह साबित न हो जाए कि उस व्यक्ति ने लड़की का टॉप उतार दिया है या गलत तरीके से उसकी ड्रेस के अंदर हाथ डाला है। इरादा।

अदालत ने कहा कि अगर ऐसा होता है, तो यह एक लड़की या महिला की सील को तोड़ने का इरादा माना जा सकता है। यही नहीं, कोर्ट ने यह भी कहा कि ‘महज छेड़छाड़’ यौन हमले के तहत नहीं आती है।

बता दें कि bombay high court एक आरोपी की याचिका पर सुनवाई कर रहा था, जिसे एक नाबालिग लड़की के यौन शोषण के मामले में निचली अदालत में जेल की सजा सुनाई गई थी।

BSF: गर्लफ्रैंड के घर से भागा युवक जा पहुँचा पाकिस्तान, फंस गया मुश्किल में, जानें पूरा मामला

अदालत ने इस कारण से इस मामले को यौन उत्पीड़न मानने से इनकार कर दिया

जस्टिस पुष्पा गनेदीवाला की सिंगल-जज बेंच ने फैसला सुनाते हुए निचली अदालत से व्यक्ति को मिली सजा को संशोधित कर दिया है। न्यायाधीश ने कहा कि व्यक्ति ने अपने कपड़े को हटाकर बच्चे के शरीर के किसी भी हिस्से को छुआ या छुआ नहीं है, ऐसी स्थिति में, हम इसे यौन उत्पीड़न के आरोप के रूप में नहीं मान सकते हैं।

कपड़ा पहने बच्ची के स्तन दबाने के मामले में IPC की धारा 354 के तहत होगी सजा- bombay high court

कोर्ट ने कहा कि आरोप निश्चित रूप से IPC की धारा 354 के अंतर्गत आता है, जो एक महिला को उसकी सम्मान को अपमानित करने के लिए दंडित करता है। इस मामले में IPC की धारा 354 के तहत कार्रवाई की जा सकती है, न कि यौन उत्पीड़न के मामले में। यह स्पष्ट है कि अदालत ने आरोपियों की सजा कम कर दी

Home Loan: ये Bank दे रहा है सबसे सस्ता Home Loan, यहां जानें कितनी है ब्याज दर

आरोपी ने पीड़ित लड़की को अमरूद भेंट करने के बहाने बच्ची का किया था उत्पीड़न

आरोपी ने पीड़िता को अमरूद भेंट करने के बहाने से अपने Home पर ले गया। बाद में जब पीड़िता की माता मौके पर पहुंची, तो उसने अपनी बच्ची को वहां रोते हुए देखा। जब माता ने पूछा, तो बेटी ने उसे पूरी घटना बताई। इसके बाद महिला ने आरोपी के खिलाफ FIR दर्ज कराई।