रेलमंत्री: विरोध के चलते अब खंडवा से ही पुराने रेल मार्ग पर ही नया ब्रॉड गेज मार्ग बनाया जाएगा

ब्रॉड गेज खंडवा

  • सामाजिक संस्था जनमंच ने भी मेलघाट से बाईपास के विरोध में छेड़ी थी मुहिम.
  • अकोला अकोट खंडवा पुराने मीटर गेज ट्रैक पर ही ब्रॉड गेज बनेगा : केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल
  • नए ब्रॉडगेज मार्ग के लिए मिलेगी भरपूर निधि.

मनीष गुप्ता खंडवा। उत्तर से दक्षिण भारत को जोडऩे वाला रेलवे का सबसे छोटा रूट हिंगोली-अकोला, अकोट-खंडवा इंदौर-अजमेर-जयपुर रूट के लिए एक खुश खबर आई है. रेल मंत्री ने विगत दिवस अमरावती से मिलने गए.

खंडवा से मार्ग कन्वर्जन किये जाने से रेलवे का लगभग 1000 करोड़ रु. बचेगा

प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया की खंडवा से अकोला के बीच में ब्रॉड गेज कन्वर्जन का कार्य पुराने मार्ग पर ही किया जाएगा। नए बायपास के लिए रेलवे के पास कोई विचार नहीं है। पुराने मार्ग पर ही गेज  कन्वर्जन कार्य किए जाने से रेलवे का लगभग 1000 करोड़ रू. बचेगा।

खंडवा की सामाजिक संस्था जनमंच के चंद्र कुमार सांड व  ने बताया कि हिंगोली वाशिम अकोला अकोट खंडवा आमलयाखुर्द आदि शहरों के लोगो ने मेलघाट पर बायपास बनाने को लेकर खासी नाराजगी थी तथा विरोध के सुर उमड़ रहे थे।

खंडवा की  सामाजिक संस्था जनमंच ने भी बाईपास का विरोध करते हुए एक मुहिम छेड़ रखी थी जिसमें खंडवा के सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, विधायक देवेंद्र वर्मा चेंबर ऑफ कॉमर्स सद्भावना मंच आदि संस्थाओं ने जनमंच के मुहिम के साथ जुड़कर प्रधानमंत्री रेल मंत्रीको पत्र लिखे थे.

आज इस मुहिम को सफलता मिलती दिख रही है।  केन्द्र सरकार के रेल मंत्रालय द्वारा आकोला-इंदौर ब्रॉड गेज का कार्य तेजी से किया जा रहा है। सांसद नंदकुमार सिंंह चौहान के प्रयासों से लगातार प्रति वर्ष कराड़ों रूपए का बजट इस योजना के स्वीकृत होता है।

चल रही ब्रॉड गेज की इस योजना में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री श्री उद्धव ठाकरे बाधक बने और उन्होंने मेलघाट से ब्राडगेज नहीं निकालने का पत्र रेल मंत्रालय को सौंपा जिससे चल रहे कार्य में विलंब हो रहा है। क्षेत्रवासियों के विरोध के कारण अब रेल मंत्री पीयूष गोयल ने स्पष्ट कर दिया है,

कि पूर्व मेलघाट से ही ब्रॉड गेज का कार्य पूर्ण होगा। सामाजिक संस्था जनमंच के चंद्र कुमार सांड, प्रमोद जैन, कमल नागपाल, एन.के. दवे, अनुराग बंसल, देवेंद्र जैन, जगदीश चंद्र चोरे, आदि ने,

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, रेल मंत्री पीयूष गोयल, खंडवा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, विधायक देवेंद्र वर्मा एवं समस्त संस्थाओं के प्रयासों की सराहना की है। एवं उम्मीद की है कि भविष्य में भी सनावद से महू ब्रॉड गेज कन्वर्जन हेतु क्षेत्रवासियों की मांगको पूरा  करेंगे।

विपक्षी पार्टी ने लोकसभा में PM-CARES फंड की ट्रांसपेरेंसी पर उठाए तीखे सवाल