बीमा राशि दिलवाने के लिए, किसानों के साथ कलेक्टर से मिलने पहुंचे वन मंत्री पुत्र

मंत्री किसानों

खंडवा। कांग्रेस शासनकाल 2019 में किसानों ने अपनी फसल का बीमा तो करवाया लेकिन सही सर्वे नहीं होने के कारण नष्ट हुई सोयाबीन फसल की बीमा राशि का क्लेम कई गांवों के किसानों को नहीं मिल पाया।

प्रवक्ता सुनील जैन ने बताया कि हरसूद विधानसभा क्षेत्र के विधायक व प्रदेश के वनमंत्री कुंवर विजय शाह कोरोना संक्रमित होने के कारण इंदौर में स्वास्थ लाभ ले रहे हैं। ऐसे समय में क्षेत्र वासी Farmer’s की समस्याओं को लेकर मंत्री पुत्र एवं जिला सहकारी बैंक के संचालक दिव्यदित्य शाह अन्नदाता किसानों के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचे.

और बीमा क्लेम की राशि से छुटे गांवों के किसानों फसल बीमा लाभ दिलवाने का अनुरोध पत्र सौंपा। उन्होंने कहा कि उचित सर्वे कराकर सोयाबीन की नष्ट हुई फसल का 2020 में हरसूद विधानसभा के Farmer’s को लाभ दिलवाने की बात भी कलेक्टर से कही।

उल्लेखनीय है कि कमलनाथ की कांग्रेस सरकार द्वारा 2019 में सही सर्वे न होने के कारण अन्नदाता किसानों को अपनी नष्ट हुई फसल का बीमा राशि का क्लेम नहीं मिल पाया। विगत दिनों 2019 के किसानों की नष्ट हुई.

फसल की बीमा राशि क्लेम देश के प्रधानमंत्री की फसल बीमा योजना अंतर्गत 18 सितंबर को पूरे प्रदेश के किसानों के खाते में 46000 की राशि जमा की गई। इसके बावजूद भी कांग्रेस सरकार के सर्वे के कारण कई अन्नदाता किसान इसके लाभ से वंचित रह गए।

दिए गए ज्ञापन में कलेक्टर से अनुरोध किया हरसूद विधानसभा क्षेत्र के किसानों ने फसल बीमा का प्रीमियम जमा किया था लेकिन क्षेत्र के कुल 9 गांवों में ही प्रधानमंत्री फसल बीमा राशि का लाभ प्राप्त हुआ है।

विधानसभा के अन्य गांवों को इस योजना से वंचित रखा गया है जबकि शेष सभी ग्रामों में 9 ग्रामों जैसी अनावारी थी। अत: निवेदन है कि पुन: सभी ग्रामों के अनावरी की जानकारी लेकर शेष बचे Farmer’s को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ दिलवाने का कष्ट करें। जिले के महामंत्री संतोष सोनी एवं मंत्री पुत्र दिव्यदित्य शाह के साथ ही अन्य किसानों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

यह भी पढ़ें: CAG: सरकार ने जीएसटी अधिनियम का किया उल्लंघन, राज्यो के धन का किया गलत उपयोग