पाकिस्तान में ट्रेन का किराया 10 हजार रुपये! महंगा हुआ रेल सफर, पढ़ें पूरी खबर

पाकिस्तान

कर्ज में डूबकर पाकिस्तान पैसे पर निर्भर हो गया है। शहजाब शरीफ के पाकिस्तान में आम आदमी के सफर के लिए चलने वाली ट्रेन का किराया आसमान छू रहा है. आलम यह है कि ट्रेन का किराया 10 हजार रुपये तक पहुंच गया है।

जानिए किराए में कितने फीसदी की बढ़ोतरी से पड़ोसी मुल्क इकॉनमी चलाने के लिए जुटा रहा है पैसा. कर्ज में डूबा पाकिस्तान पैसों का मोहताज हो गया है। आलम यह है कि पाकिस्तान की जनता आटे की लड़ाई, बिजली के गहराते संकट और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों का खामियाजा भुगत रही है.

रेल का किराए बढ़ने से पाकिस्तान की पूरी तरह कमर टूट गई है

रेल यात्रा महंगी हो गई है। पाकिस्तान किसी तरह इधर-उधर से पैसा जोड़कर देश चलाने पर मजबूर हो गया है। आलम यह है कि अब एक टिकट की कीमत 10 हजार रुपए तक पहुंच गई है। जानिए बिजली और पेट्रोल की आसमान छूती कीमतों के बाद पाकिस्तान में रेल किराया कितना बढ़ गया है। फिलहाल पाकिस्तान के हालात ठीक नहीं हैं। पाकिस्तानियों को बुनियादी जरूरत की चीजें भी नहीं मिल रही हैं।

यह भी पढ़े:- PM Kisan Scheme: 13वीं किस्त का इंतजार कर रहे किसानों के लिए अच्छी खबर, जल्दी से चेक करें अपना नाम, ये रहा प्रोसेस

देश की सरकार सिर्फ आरोप-प्रत्यारोप में लगी है। जब राजकोष में पैसा ही नहीं है तो केवल बातें करने से कुछ नहीं हो सकता। अब ये बात पाकिस्तान की जनता भी समझने लगी है. पाकिस्तान की शाहबाज शरीफ सरकार आर्थिक संकट से निजात देने के लिए हर जगह में बहुत पैसा बढ़ा रही है।

स्पेशल ट्रेन के किराए में 25% तक बढ़ाया गया

हाल ही में पाकिस्तान के बिजली विभाग ने बिजली की दरों में बढ़ोतरी की है। अब पाकिस्तान के रेल मंत्रालय ने देश की स्पेशल ट्रेन का किराया 25 फीसदी बढ़ाने का फैसला किया है. सस्ते सामान के लिए मशहूर चीन से पाकिस्तान ने ट्रेन मंगवाई है। पाकिस्तान ने चीन से बनी इस ग्रीनलाइन एक्सप्रेस ट्रेन की सेवा पिछले महीने 20 दिसंबर से ही बहाल करने का फैसला किया था।

हालांकि आर्थिक तंगी के चलते अब सरकार ने फैसला किया है कि इसकी शुरुआत 27 जनवरी से होगी। यह ग्रीनलाइन एक्सप्रेस ट्रेन इस्लामाबाद और कराची के बीच चलने वाली है। पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार ने ग्रीन लाइन ट्रेन का किराया 25 फीसदी तक बढ़ाने का फैसला किया है. इसे बढ़ाकर पाकिस्तानी सरकार यात्रियों की जेब से पैसे निकालकर अपना खजाना भरने की योजना बना रही है।

यह भी पढ़े:- हिंदुस्तानी खगोलविदों को पृथ्वी से 880 करोड़ प्रकाश वर्ष की दूरी से मिला Radio Signals

एक टिकट की कीमत 10,000 रुपये

ग्रीन लाइन वाली एक्सप्रेस ट्रेन में 2 Ac पार्लर, 5 Ac बिजनेस, 6 Ac स्टैंडर्ड और 4 से 5 इकोनॉमी क्लास के कोच उपलब्ध हैं। पाकिस्तान रेलवे ने रावलपिंडी से कराची तक ग्रीन लाइन ट्रेन के इकोनॉमी क्लास टिकट को 4000 रुपये कर दिया है। वहीं, कराची से रावलपिंडी के लिए मानक एसी टिकट को बढ़ाकर 8,000 रुपये कर दिया गया है, जो पाकिस्तानी यात्रियों के लिए एक बड़ी रकम है।

इसी तरह, कराची से रावलपिंडी तक बिजनेस क्लास का किराया बढ़ाकर 10,000 रुपये और लाहौर-कराची से 9,500 रुपये कर दिया गया है। दिया गया है। इससे पहले, संबंधित रेलवे अधिकारी ख्वाजा साद रफीक को लाहौर से कराची तक ग्रीन लाइन के यात्रा समय को घटाकर 20 घंटे से कम करने का निर्देश दिया गया था, जिससे राष्ट्रीय रेलवे में यात्रियों का विश्वास बहाल होगा।

पाकिस्तान पर करीब 100 अरब डॉलर का कर्ज

इस वक्त पाकिस्तान पर 100 अरब डॉलर का कर्ज है। पाकिस्तान के पीएम शाहबाज शरीफ पड़ोसी देशों चीन और सऊदी अरब से लगातार कर्ज मांग रहे हैं. हालांकि, सऊदी अरब ने 10 अरब डॉलर के ऋण का वादा किया है। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार भी महज 4 अरब डॉलर है, जो मौजूदा हालात को देखते हुए काफी कम है। अरब ने भी हाल ही में ऐलान किया है कि वह किसी भी देश को बिना शर्त कर्ज नहीं देगा। दावोस में सऊदी अरब की इस हालिया घोषणा ने पाकिस्तान की रातों की नींद उड़ा दी है।

कर्मचारियों को 20-25 दिन बाद वेतन मिल रहा है

रेल विभाग के कर्मचारियों को उनका निर्धारित वेतन और भत्ता भी नहीं मिल रहा है. इसके साथ ही पिछले एक साल में सेवानिवृत्त हुए कई कर्मचारियों की ग्रेच्युटी के रूप में करीब 25 अरब रुपये की देनदारी है. स्थिति यहां तक ​​बिगड़ गई है कि कर्मचारियों को 20-25 दिन बाद वेतन दिया जा रहा है और पिछले महीने का वेतन भी अटका हुआ है।

यह भी पढ़े:- Indore News: नशीला पदार्थ खिलाकर सोने-चांदी के ज़ेवर उड़ाने वाली गैंग फिर हुई सक्रिय