नहीं सुधर रहे उज्जैन निगमकर्मी, विदाई में गिफ्ट दी जा रही है दारू की बॉटल

 

 

गिफ्ट

जय कौशल उज्जैन. नगर निगम के कारगुज़ारों की कारगुजारी का खामियाजा झींझर कांड के चलते आला अफसरों तक को भारी पड़ गया. लेकिन इसके बाद भी निगम के झींझर कांड के असल आरोपी विभाग के कर्ता-धर्ता सुधरने को तैयार नहीं हैं. सार्वजनिक रूप से ही एक विदाई समारोह में सेवानिवृत अधिकारी को गिफ्ट में दारू की बॉटल गिफ्ट की गई.

अब इससे समाज मे क्या मैसेज जाएगा नहीं मालूम, लेकिन इतना जरूर है कि निगमिये अपने आलाओं के बचने का जश्न जरूर मना रहे हैं. और दुनिया जाए भाड़ में जबकि पुलिस कप्तान तक को झींझर मामले में जाना पड़ा है.

ऐसे में निगमियों की ये करतूत क्या रंग लाती है ये वक्त के गर्भ में है। इसमें विदाई लेने वाले बेचारे अधिकारी कोई कसूर नहीं है लेकिन भेंट देने वालों को तो सोचना ही था ।

निगम नगरीय प्रशासन यांत्रिकी विभाग ने शिंदे को सेवा निवृति पर सम्मान किया

नगरीय प्रशासन विभाग उज्जैन के यांत्रिकी प्रकोष्ठ द्वारा नगरीय प्रशासन विभाग संभागीय कार्यालय के ओ.एस. मधुकर शिंदे का बिदाई समारोह मंगलनाथ स्थित सांई पेलेस पर आयोजित किया गया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अवंतिका ज्योति के प्रधान संपादक राजेंद्र कड़ेल और इंदौर नगरीय प्रशासन विभाग संभागीय कार्यालय के राजकुमार अकोदिया थें.

कड़ेल ने संबोधित करते हुए कहा कि समर्पण भाव से जों कार्य करता है वह निश्चित ही सम्मान का हकदार हैं, श्री शिंदे ने अपने सेवा-काल में लग्न और इमानदारी से सेवाएं देकर आज अपना फर्ज निभाया है, श्री अकोदिया ने कहा कि श्री शिंदे के साथ मुझे भी कार्य करने का अवसर मिला था उनकी कार्यशैली निष्पक्ष रहीं ‌हैं.

कार्यपालन यंत्री डी.एल.दोरायान ने कहा कि अपने कार्यकाल में श्री शिंदे ने अनेक जांचों में गम्भीरता से कार्य किया है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से नगरीय प्रशासन के यंत्री शेर सिंह,भोंरासा से शिवांगी अग्रवाल, बड़नगर से दीपिका खत्री, तराना से राहुल जैन, उन्हेल से अर्पित शरण, श्री सतीश, श्री कसेरा सहित अनेक विभागीय कर्मचारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: सरकारी विभाग की साख़ दांव पर लगाते बंटी और बबली, महिला ने पुलिस पर कराया मामला दर्ज