केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने पद से दिया इस्तीफा, यहाँ जानें इस्तीफा देने की सही वजह

मुख्तार अब्बास नकवी

भारत के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है नकवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने के बाद इस्तीफा दिया नकवी आज अपनी आखिरी कैबिनेट बैठक में शामिल हुए इस बैठक में पीएम मोदी ने मुख्तार अब्बास नकवी के योगदान की तारीफ की।

मुख्तार राज्यसभा के सदस्य हैं उनका कार्यकाल 7 जुलाई को खत्म होने वाला है नकवी को इस बार बीजेपी ने राज्यसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है. दरअसल, मोदी सरकार के दो मंत्रियों के राज्यसभा सदस्य का कार्यकाल गुरुवार को खत्म हो रहा है,

इनमें मुख्तार अब्बास नकवी के अलावा JDU के आरसीपी सिंह का नाम शामिल है. ये दोनों नेता फिलहाल 7 जुलाई से किसी भी सदन के सदस्य नहीं रहेंगे

मुख़्तार अब्बास नकवी के बारे में जानें 

नकवी 1998 में लोकसभा का चुनाव जीते इसके बाद 2002 में राज्‍यसभा के सदस्‍य के रूप में निर्वाचित हुए उन्हें 2003 में राष्‍ट्रीय हज कमेटी का सदस्‍य बनाया गया 2010 के राज्यसभा चुनाव में में उन्होंने उत्तर प्रदेश से जीत दर्ज की वह 2016 तक उत्तर प्रदेश से राजयसभा सांसद रहे,

इसके बाद 2016 से वह झारखंड से राजयसभा सांसद बने यह जुलाई 2021 से जुलाई 2022 तक राज्यसभा में बीजेपी के उपनेता थे। 1998 में वह सूचना और प्रसारण मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाए गए थे।

2011 में वह नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सदस्‍य बने 2014 से 2017 तक इन्होने संसदीय मामलो के राज्य मंत्री का कार्यभार सभाला 2016 से 2022 तक यह अल्पसख्यक मामलो के मंत्री रहे.

जरूर पढ़ें: लाल किताब के 32 सिद्ध, अचूक टोटके और उपाय अपनाए, कष्ट होंगे दूर, घर में बरसने लगेगा धन

बंद हो गई भारतीय बाजार पर राज करने वाली Maruti Suzuki की ये सबसे सस्ती और फेमस कार, अब लॉन्च होंगी ये दो नई Cars

गेमिंग फ़ोन ASUS ROG Phone 6 सीरीज भारत में हुई लॉन्च, डिस्प्ले से लेकर कैमरा, धाँसू हैं हर फीचर, जानें कीमत