वैक्सीन उपलब्ध नहीं लेकिन संतों के मेडिटेशन से कोरोना हो रहा दूर- आचार्य प्रणाम सागर

आचार्य प्रणाम सागर


खंडवा। आचार्य, ऋषि-मुनियों और साधु, संतों की साधना के कारण भारत की इस धरा पर कोई भी महामारी बड़े स्तर पर नहीं फैली। देश ही नहीं दुनिया में कोरोना वायरस की महामारी से लोग परेशान जरूर हुए लेकिन डरे नहीं।

कोरोना की वैक्सीन भले ही बाजार में ना आई हो, लेकिन संतों के मेडिटेशन ने इस महामारी को दूर करने का भरपूर प्रयास किया है। यह उद्गार खंडवा जिले में मां नर्मदा के तट पर सिद्धवरकूट सिद्ध क्षेत्र में दर्शन के लिए पहुंचे आचार्य प्रणाम सागर जी महाराज ने व्यक्त किए।

आचार्य श्री ने कहा कि मैंने कहा था कि कोरोना दीपावली के आते ही दूर होने लगेगा क्योंकि हमारे देश का व्यक्ति प्रभु पूजा में विश्वास रखता है, और प्रभु की भक्ति के साथ साधु संतों के आशीर्वाद का ही परिणाम है।

कि यह बीमारी भी जल्द से जल्द भारत से दूर होने जा रही है और हमारे जीवन की पटरी पूर्व की तरह ही प्रभु भक्ति के माध्यम से चलती रहेगी। समाज के सचिव सुनील जैन ने बताया कि आचार्य प्रणाम सागर जी महाराज की विशेष कृपा खंडवा पर हैं।

और इस वर्ष का चातुर्मास भी खंडवा में ही होना था लेकिन कोरोना वायरस के चलते प्रशासन द्वारा लॉकडाउन लगाने के कारण आचार्य श्री सनावद से खंडवा नहीं आ पाए,

और सनावद में ही आचार्य श्री का चातुर्मास हुआ। सोमवार को सनावद से आचार्य श्री सिद्ध भूमि सिद्धवरकूट प्रभु दर्शन के लिए पहुंचे और सभी मंदिरों के दर्शन कर भक्तों को प्रवचनों के माध्यम से अपना आशीर्वाद प्रदान किया।

यह भी पढें: महालक्ष्मी मंदिर में 256 प्रकार के व्यंजनों के अन्नकूट भोग के साथ हुआ दीपोत्सव का समापन