Zolgensma: 1 साल की बीमार बच्ची के साथ चमत्कार, लकी ड्रा में जीती 16 करोड़ की ये दवा

Zolgensma

Zolgensma. गंभीर बीमारी से जूझ रही एक साल की बच्ची की किस्मत रातों-रात चमक गई। जेनेटिक बीमारी से पीड़ित ज़ैनब ने लॉटरी में 16 करोड़ की दवा जीती है, जिससे उसका इलाज संभव हो सका है। बच्ची स्पाइनल मस्कुलर एंथ्रोपी (SMA) से पीड़ित थी।

Zolgensma 16 करोड़ की दवा

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक कोयंबटूर के इस परिवार के लिए लॉटरी जिंदगी के तोहफे से कम नहीं है. बच्ची के परिजन लंबे समय से दवा की एक खुराक खरीदने के लिए पैसे जुटाने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन दवा के इलाज में इस्तेमाल होने वाली Zolgensma दवा इतनी महंगी है,

कि उसे खरीदने की हर कोशिश नाकाम रही. Zolgensma दवा की कीमत करीब 16 करोड़ रुपए है, इस वजह से यह दवा सिर्फ गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों के लिए बनाई गई है। इसके लिए किए गए शोध की लागत भी बहुत अधिक है।

गंभीर बीमारी से पहले बच्चे की मौत

दवा के लिए पैसे जुटाकर ज़ैनब के पिता अब्दुल्ला ने अपनी बेटी का दाखिला एक ऐसे संगठन में कराया जो बच्चों का SMA से इलाज करता है। अब्दुल्ला और उनकी पत्नी आयशा ने बच्चे के इलाज के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय और वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया,

ताकि किसी तरह उनके बच्चे की जान बचाई जा सके. इस बीमारी के कारण दंपति ने वर्ष 2018 में अपने पहले बच्चे को खो दिया था और इस बार वे किसी तरह अपनी बच्ची का सफल इलाज चाहते थे। फिर शनिवार को एक चमत्कार हुआ। अब्दुल्ला के पास एक फोन आया,

और बताया गया कि उनकी बेटी ने लकी ड्रॉ के जरिए Zolgensma दवा जीती है, जैनब के अलावा तीन अन्य बच्चों को भी यह दवा दी जाएगी।

बच्चे को दी दवा

दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में शनिवार को बच्ची को Zolgensma का डोज भी दिया गया और अब बच्ची की स्थिति पर नजर रखी जा रही है. इस गंभीर बीमारी में मरीज के अंदर की कोशिकाएं खराब होती रहती हैं और मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं। इस बीमारी से पीड़ित मरीजों की हालत उम्र के साथ बिगड़ती जाती है, इलाज के लिए उन्हें जीन थेरेपी की जरूरत होती है।

यह भी पढ़ें: Aadhaar Card अब अपनी क्षेत्रीय भाषा मे बनवाएं, मिलेंगे ये बड़े फायदे, जानें पूरा प्रोसेस